10+ Ramzan Mubarak Shayari | Shayari on Ramzan | रमजान मुबारक हिंदी शायरी

आज आप सभी के लिए beautiful ramzan mubarak shayari के साथ ramdan shayari images, pics, लाया हूँ। जिसे आप अपने दोस्तों को wish कर सकते है। सबसे भी पहले दिल से आपको ramzan mubarak.

आप सभी को पता होगा रमज़ान एक रहमत से भरी पाक महीना होता है, इसलिये आप सब को Shayari on Ramzan पोस्ट में बेहतरीन शायरी दिया हु।

Ramzan Mubarak शायरी

चाँद कि पहली दस्तक पे, चाँद मुबारक कहते हैं,
सब से पहले हम आपको, रमज़ान मुबारक कहते है !!

Chand Ki Pehli Dastak Pe, Chand Mobarak Kahte Hain,
Sab Se Pahle Hum Ap Ko, Ramazan Mubarak Kehty Hain..!!

चाँद से रोशन हो रमज़ान तुम्हारा,
इबादत से भर जाए रोज़ा तुम्हारा,
हर नमाज़ हो कबूल आपकी,
बस यही दुआ है खुदा से हमारी!!

Chand se roushan ho ramzaan tumhara,
Ibaadat se bhar jaye roza tumhara,
Har namaz kubool ho aapki,
Bas yahi dua hai, khuda se humaari.!!

Beautiful ramzan quotes

रमज़ान का चाँद दिखा,
रोज़े की दुआ मांगी,
रोशन सितारा दिखा,
आप की खैरियत की दुआ मांगी!!

Ramzaan ka chand dikha,
Roze ki Dua mangi,
Roushan sitara dikha,
Aapki ki khaireeyat ki Dua mangi.!!

Shayari on Ramzan

Ramzan के मुक़दस पाक महीने पर मै आपके लिए Shayari on ramzan पर कुछ बेहतरीन शायरी आपके लिए लाया हूं। उम्मीद करता हु, आपको पसंद आएगी।

आये चाँद उनको मेरा पैगाम कहना, खुशी का दिन और हंसी की धाम कहना, तू उनको मेरी तरफ से मुबारक हो रमज़ान कहना।!!

Aye Chand Unko Mera Paigham Kehna, Kushi Ka Din Aur Hasi Ki Dham Kehna, Jab Woh Dekhe Bahaar Aa Ke, Tu Unko Meri Taraf Se Mobarak Ho Ramadan Kehna..!!

Best Ramzan shayari

रमज़ान में हो जाए, सबकी मुराद पूरी, मिले सबको ढेरो खुशिया और ना रहे कोई इच्छा अधूरी।!

Ramzaan mein ho jaye, Sabki muraad puri, Mile sabko dhero khusiya aur na rahe koi ichcha adhuri.!!

कितनी जल्दी यह अरमान गुजर जाता है,
प्यास लगती नही इफ्तार गुजर जाता है,
हम गुनाहगारो की मगफिरत कर मौला,
इबादत होती नही और रमज़ान गुजर जाता है।!!

Kitni Jaldi Yeh Arman Guzer Jata Hai, Piyas Lagti Nahi Iftar Guzar Jata Hai, Hum Gunah Garo ki Mghfirat ker Mere MouLA, Ibadat Hoti Nahi Aur Ramzan Guzer Jata Hai.!!

Shayari on Ramzan Mubarak

सुनहरी धुप बरसात के बाद,
थोड़ी सी हंसी हर बात के बाद,
उसी तरह यह रमज़ान मुबारक हो,
पिछले रमज़ान के बाद!!

Sunhari dhup, barsaat ke baad,
Thori si hansi, har baat ke baad,
Usi tarah yeh ramzaan mubarak ho,
Pichhle ramzaan ke baad.!!

तुम इबादत के लम्हो में मेरा 1 काम करना, हर सेहरी से पहले, हर नमाज़ के बाद, हर इफ्तार से पहले, हर रोजे के बाद,
सिर्फ अपनी दुआओ के कुछ अल्फ़ाज़ मेरे नाम करना।!!

Tum Ebadat Ke Lamho Me Mera 1 Kaam Krna, Har Sehri Se Pehle, Har Namaz Ke Bad, Har iftaar Se Pehle, Har Rozey Ke Bad, Sirf Apni DUA K Kuch Alfaaz Mere Naam Karna.!!

Ramzan shayari image

जहाँ-जहाँ भी उजाला दिखाई देता है, मेरे हुजूर (SAW) का जलवा दिखाई देता है, यह आरज़ू है, वही जाकर मेरा दम निकले, जहाँ से गुम्बदे खज़रा दिखाई देता है।!!

Jahan Jahan Bhi Ujala Dekhai Deta Hai, Mere Huzoor (SAW) Ka Jalwa Dekhai Deta Hai, Yeh Aarzu Hai Waheen Jaa Ke Mera Dum Nikle,
Jahan Se Gumbadey Khazra Dekhai Deta Hai.!!

Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *